Monday, September 21, 2015

पल!

सोचा थम जाए
पर फ़िसल जाता है

सोचा गुजर जाए
पर रुक जाता है!

बेवफ़ा है पल
फिर भी
वफ़ा की इससे उम्मीद
रहती है हर पल!

No comments: